काल किसे कहते है, प्रकार, उदाहरण

काल किसे कहते है, प्रकार, उदाहरण – kaal in hindi

हेलो स्टूडेंट इस लेख में आप हिंदी के महत्वपूर्ण अध्याय काल के बारे में पढ़ेंगे, कि काल की परिभाषा, काल के भेद सबकुछ विस्तार से पढ़ेंगे | आप से निवेदन है कि आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े | kaal in hindi के बारे सम्पूर्ण ज्ञान हो जाये |

काल किसे कहते है – Kaal ki Paribhasha :

क्रिया के होने या करने के समय को काल कहते हैं।

काल के भेद – Kaal ke Bhed :

1. वर्तमान काल
2. भूतकाल
3. भविष्य काल

1. वर्तमान काल :

क्रिया के जिस रुप से यह पता चले कि काम अभी हो रहा है।

इसके तीन भेद है।

i. सामान्य वर्तमान :– क्रिया का वह रूप जिससे काम के वर्तमान समय में सामान्यतः होने का बोध हो।

जैसे – मोहन जाता है।

ii. अपूर्ण वर्तमान :– क्रिया का वह रूप जिससे मालूम होता है कि काम शुरू हो गया है और अभी जारी है।

जैसे –

मोहन जा रहा है।

iii. संदिग्ध वर्तमान :– क्रिया का वह रूप जिससे मालूम होता है कि क्रिया वर्तमान में ही है, किन्तु उसके होने में सन्देह हो।

जैसे – मोहन जाता होगा।

2. भूतकाल :

क्रिया के जिस रूप से यह पता चले कि काम बीते हुए समय में पूरा हो गया है।

इसके छ: भेद है।

यह भी पढ़े: अविकारी शब्द (अव्यय) की परिभाषा, प्रकार, उदाहरण

i. सामान्य भूत :– क्रिया के जिस रूप से यह मालूम हो कि काम बीते हुए समय में सामान्यतः पूरा हो गया।

जैसे मोहन ने साप देखा।

ii. आसन्न भूत :– क्रिया के जिस रूप से यह ज्ञात हो कि काम अभी-2 पूरा हुआ है।

जैसे – मोहन ने साँप देखा

iii. पूर्ण भूत :– क्रिया के जिस रुप से यह ज्ञात हो कि काम बहुत पहले पूरा हो चुका था।

जैसे – उसने साँप देखा था।

iv. अपूर्ण भूत :– क्रिया के जिस रुप से क्रिया का भूतकाल में होना पाया जाए, लेकिन पूर्ण हुआ या नहीं ज्ञात न हो, उसे अपूर्ण भूत कहते है।

जैसे – मोहन साँप देख रहा था।

यह भी पढ़े: वाच्य किसे कहते है, भेद, उदाहरण

v. संदिग्ध भूत :– जिस क्रिया के करने या होने में संदेह हो उसे संदिग्ध भूत कहते है।

जैसे– मोहन ने साँप देखा होगा।

vi. हेतु हेतुमद भूत :– क्रिया के जिस रुप से कार्य के भूतकाल में होने या किए जाने की शर्त पाई जाए, उसे हेतु हेतुमद भूत कहते है।

जैसे – यदि साँप देखता तो चला जाता।

3. भविष्य काल :

क्रिया के जिस रुप से किसी काम का आने वाले समय में किया जाना या होना ज्ञात हो उसे भविष्य काल कहते है।

इसके दो भेद है।

i. सामान्य भविष्य :– क्रिया के जिस रूप से काम का सामान्य रूप से भविष्य में किया जाना या होना पाया जाए

उसे सामान्य भविष्य कहते है।

जैसे-

a) माता जी तीर्थ यात्रा पर जाएगी ।

b) मै प्रातः कॉलेज जाऊँगा। i

i. सम्भाव्य भविष्य :– क्रिया का वह रूप जिससे काम के भविष्य में होने या किए जाने की सम्भावना है, पर निश्चित नहीं, उसे सम्भाव्य भविष्य कहते है।

जैसे– शायद कल सवेरे वह आ जाए ।

kaal in hindi Video

Caption: STUDY 91

FAQs

  • काल की परिभाषा क्या होती है?

    काल का अर्थ है ‘समय’। क्रिया के जिस रूप से किसी काम के होने के समय का बोध हो उसे काल कहते हैं।

  • पूर्ण वर्तमान काल क्या होता है?

    क्रिया के जिस रूप से कार्य के अभी पूरे होने का पता चलता है। उसे पूर्ण वर्तमान काल कहते है। इसमें हमें कार्य की पूर्ण सिद्धि का पता चलता है।

  • काल कितने प्रकार के होते हैं ?

    काल के प्रकार
    भूतकाल
    वर्तमानकाल
    भविष्यत काल

  • भूतकाल में कितने भेद होते हैं?

    भूतकाल के छः भेद होते हैं
    सामान्य भूत (Past Indefinite Tense)
    आसन्न भूत (Recent Past Tense)
    पूर्ण भूत (Past Perfect Tense)
    अपूर्ण भूत (Past Continuous Tense)
    संदिग्ध भूत (Doubtful Past Tense or Presumptive Perfect)
    हेतुहेतुमद् भूतकाल

  • भूतकाल की पहचान कैसे होती है?

    भूतकाल का अर्थ होता है बिता हुआ। क्रिया के जिस रूप से बीते हुए समय का पता चले उसे भूतकाल कहते हैं। अथार्त जिस क्रिया से कार्य के समाप्त होने का पता चले उसे भूतकाल कहते हैं। इसकी पहचान वाक्यों के अंत में था , थे , थी आदि से होती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *